देश में टीकाकरण का आंकड़ा 75 करोड़ के पार

नई दिल्ली:  देश में कोरोना के खिलाफ चल रहा टीकाकरण अभियान तेजी से आगे बढ़ रहा है। दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान ने एक और कीर्तिमान अपने नाम किया। देश में अब तक कुल टीकाकरण का आंकड़ा 75 करोड़ के पार पहुंच गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी भारत के टीकाकरण की रफ्तार की तारीफ की है।

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि भारत ने 13 दिन में ही 65 करोड़ से 75 करोड़ का आंकड़ा छुआ है। उल्लेखनीय है कि भारत में शुरुआती 10 करोड़ डोज 85 दिन में लगे थे, इसलिए कोरोना टीकाकरण की मौजूदा रफ्तार कोरोना के खिलाफ लड़ाई में यह अहम है।वहीं केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने ट्वीट कर वैक्सीनेशन की जानकारी दी। उन्होंने लिखा भारत को बधाई! पीएम मोदी के सबका साथ, सबका प्रयास के मंत्र के साथ विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान निरंतर नए आयाम गढ़ रहा है।

इसी के मद्देनजर आजादी के 75वें वर्ष में देश ने 75 करोड़ टीकाकरण के आंकड़े को पार कर लिया है। इसके अलावा भारत में इन राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने 100 फीसदी वैक्सीनेशन का लक्ष्य हासिल किया है। सबसे पहले हिमाचल प्रदेश में ये लक्ष्य पूरा किया। ये देश का पहला राज्य रहा जिसने सबसे पहले 100 फीसदी टीकाकरण का लक्ष्य हासिल किया। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक करीब 50.57 लाख लोगों को टीका लग चुका है। सीएम जयराम ठाकुर ने पिछले हफ्ते कहा था कि नवंबर 2021 तक लोगों का पूरी तरह टीकाकरण (दोनों डोज) हो जाएगा।

गोवा: गोवा में 11.18 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन लग चुकी है। इन्हें कम से कम एक डोज लग चुकी है। हालांकि विपक्ष सरकार के आंकड़ों पर सवाल उठा चुका है। दादरा और नगर हवेली व दमन और दीव: इस केंद्रशासित प्रदेश में 626,000 लोगों ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ले ली है। सिक्किम: इस उत्तर-पूर्वी राज्य के 510,000 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। इसी तरह तरह लद्दाख में 1.97 लाख डोज व लक्षद्वीप में 53,499 कोरोना की खुराक दी जा चुकी है। उल्लेखनीय है कि देश ने 31 अगस्त को टीकाकरण का नया रिकॉर्ड बनाया था। इस दिन भारत में कोरोना के 1.21 करोड़ से अधिक टीके लगाए गए थे।