75 सिंधी रिफ्यूजी को मिला भारतीय नागरिकता

मध्य प्रदेश, इंदौर:  पाकिस्‍तान में शोषण से परेशान होकर भारत आए 75 सिंधी रिफ्यूजी लोगों को इंदौर में भारतीय नागरिकता प्रदान की गई है। ऐसा 75वें स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर किया गया।

सभी लोगों को बीजेपी सांसद शंकर लालवानी, पूर्व विधायक जीतू जिराती और कलेक्‍टर मनीष सिंह की उपस्थिति में नागरिकता प्रमाण पत्र बांटे गए। गौरतलब है कि करीब 3 दशक पहले पाकिस्‍तान से भारत आकर बसे मुरलीलाल माधवानी ने भारतीय नागरिकता मिलने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्‍यक्‍त किया।

उन्होंने कहा कि पाकिस्‍तान में हमारा उत्‍पीड़न किया जा रहा था। हम 32 साल पहले इसीलिए भारत आ गए थे। हमें यहां रहते हुए 32 साल हो गए। आज हमें भारतीय नागरिकता मिल रही है। वहीं अंजलि कालरा का कहना है कि हम 17 साल पहले परिवार के साथ पाकिस्‍तान से भागकर भारत आ गए थे। पाकिस्‍तान में सिंधी समुदाय के लोगों के लिए बहुत सारी परेशानी हैं।

हमें अपनाने के लिए हम भारत सरकार को धन्‍यवाद देते हैं। इस मौके पर इंदौर के भाजपा सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि इंदौर में रह रहे 600 पाकिस्‍तानी सिंधी लोगों को अब तक भारतीय नागरिकता मिल चुकी है। ये सभी यहां लंबी अवधि के वीजा पर रह रहे थे।