पूर्वोत्तर के 9 पुलिसकर्मी होंगे अन्वेषण में उत्कृष्टता के लिए केन्द्रीय गृह मंत्री पदक 2021 से सम्मानित

नई दिल्ली/असम:  अपराध से जुड़े मामलों की जांच में उच्च पेशेवर मानकों को बनाए रखने के लिए देश के 152 पुलिस अधिकारियों को 2021 के अन्वेषण में उत्कृष्टता के लिए केन्द्रीय गृह मंत्री पदक से सम्मानित करने के लिए चुना गया है। केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि पुरस्कार पाने वालों में देशभर की 28 महिला पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं।

इस पुरस्कार की शुरुआत 2018 में आपराधिक मामलों की जांच के उच्च पेशेवर मानकों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से की गई थी। बयान में कहा गया कि अन्वेषण में उत्कृष्टता के लिए केन्द्रीय गृह मंत्री पदक 2021 से 152 पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया जाएगा।

इन पुरस्कारों को प्राप्त करने वाले कर्मियों में सीबीआई के 15, मध्य प्रदेश तथा महाराष्ट्र पुलिस के 11-11, उत्तर प्रदेश के 10, केरल तथा राजस्थान के नौ-नौ, तमिलनाडु के आठ, बिहार के सात, गुजरात, कर्नाटक और दिल्ली के छह-छह पुलिस कर्मी शामिल हैं। तेलंगाना के पांच पुलिस अधिकारी, असम, हरियाणा, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के चार-चार, जबकि शेष अन्य राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पुलिस कर्मी हैं।

गौरतलब है कि असम के जिन चार पुलिस अधिकारियों एवं कर्मियों का चयन किया गया है, उनमें विवेकानंद दास (वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक), डॉ. रश्मी रेखा शर्मा (पुलिस उपाधीक्षक), सुकुमार सिन्हा, (निरीक्षक) और दीपांकर गोगोई (उप-निरीक्षक) शामिल है। इसके अलावा पूर्वोत्तर के शेष पांच पुलिस अधिकारियों में डब्ल्यूएसआई एम प्रियदर्शिनी देवी (मणिपुर), डीएसपी बनारापलांग जिरवा (मेघालय), एसआई वीएल चामा राल्ते (मिजोरम), यूबीएसआई – तेमसुयांगबा एओ (नगालैंड) और डब्ल्यूएसआई रीता देबनाथ (त्रिपुरा) शामिल है।