आर्यन खान रहेंगे 7 अक्टूबर तक एनसीबी की रिमांड पर

महाराष्ट्र, मुंबई : ड्रग्स मामले में गिरफ्तार किए गए अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को 7 अक्टूबर तक एनसीबी की कस्टडी में रहना होगा। आज मुंबई की किला कोर्ट में एनसीबी ने 11 अक्टूबर तक की रिमांड मांगी थी। हालांकि कोर्ट ने आर्यन और उसके साथ गिरफ्तार अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमीजा को 7 अक्टूबर तक की ही रिमांड दी।
इसके साथ ही मुंबई की एस्प्लेनेड कोर्ट ने अन्य 5 आरोपियों विक्रांत छोकर, इसमीत सिंह, नुपुर सारिका, गोमित चोपड़ा और मोहक जसवाल को भी 7 अक्टूबर तक एनसीबी की रिमांड पर भेज दिया है।

आज सुनवाई के बाद किला कोर्ट ने आदेश में कहा- एनडीपीएस एक्ट के तहत तमाम अपराध गैर-जमानती हैं। इसलिए जमानत देने या न देने का तो सवाल ही नहीं उठता। जरूरी बात यह है कि आरोपियों को कस्टडी में भेजा जाए या नहीं। आरोपियों के सहयोगियों के बयान विरोधाभासी हैं। आरोपी भी उनके साथ थे। इस मामले में जांच बेहद जरूरी है। आरोपियों को खुद को बेकसूर साबित करना होगा। इस आदेश के साथ ही कोर्ट ने आरोपियों को 7 अक्टूबर तक एनसीबी की कस्टडी में रिमांड पर सौंप दिया।

नियमों के तहत आगे की पूछताछ से पहले जांच एजेंसी सभी आरोपियों का एक बार फिर मेडिकल टेस्ट कराएगी। इसके बाद एनसीबी दफ्तर में पूछताछ होगी। जरूरी होने पर स्पॉट इन्वेस्टिगेशन और रिकवरी प्रोसेस भी होगी। इससे पहले एनसीबी ने बताया कि आर्यन के फोन से आपत्तिजनक कंटेंट बरामद हुआ है। उनके चैट से पता चला है कि वे ड्रग्स खरीदने-बेचने की प्लानिंग कर रहे थे। साथ ही इंटरनेशनल ड्रग तस्करी के भी सबूत मिले हैं।

इससे पहले एनसीबी अधिकारी आर्यन के साथ गिरफ्तार हुए अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमीजा को जेजे अस्पताल ले गए थे, जहां उनका आरटी पीसीआर टेस्ट कराया गया। वकील सतीश मानशिंदे ने आर्यन की ओर से कहा मैं अधिकार के तौर पर जमानत नहीं मांग रहा हूं। सच्चाई ये है कि मुझे (मुवक्किल यानी आर्यन) क्रूज पर हिरासत में नहीं लिया गया। मुझे वहां स्पेशल गेस्ट के तौर पर इनवाइट किया गया था। मैं एक दोस्त के साथ वहां गया था। मैं तो ये भी नहीं जानता कि क्रूज पर मुझे कौन सा केबिन अलॉट किया गया था।

मैंने क्रूज पर जाने के लिए एक भी पैसा नहीं दिया और न ही मैं किसी ऑर्गनाइजर को जानता हूं। जो पंचनामा तैयार किया गया है, उसमें मोबाइल के अलावा मुझसे किसी तरह की बरामदगी नहीं दिखाई गई है। दोस्त को इसलिए गिरफ्तार किया गया, क्योंकि उसके पास 6 ग्राम चरस थी। इससे मेरा कोई ताल्लुक नहीं।

रिमांड मांगने के लिए जो बरामदगी दिखाई गई है, वो हममें से किसी के पास से बरामद नहीं हुई। यह बरामदगी दूसरे आरोपियों से हुई है और मुझे इससे जोड़ा जा रहा है। पूछताछ के दौरान मेरे वॉट्सअप चैट्स डाउनलोड किए गए। अब ये दावा किया जा रहा है कि मैं इंटरनेशनल ड्रग ट्रैफिकिंग से जुड़ा हुआ हूं। यहां मैं साफ कर देना चाहता हूं कि जितना वक्त मैंने विदेश में गुजारा, मेरा किसी ड्रग ट्रैफिकिंग, सप्लाई या डिस्ट्रीब्यूशन से कोई ताल्लुक नहीं रहा। मेरे चैट्स, डाउनलोड्स, पिक्चर्स या किसी और चीज से यह कतई साबित नहीं होता कि मेरा इस मामले से कोई संबंध है।

अगर ड्रग्स के बारे में कोई बातचीत हुई भी है तो इसका यह मतलब कतई नहीं है कि मैं ड्रग ट्रैफिकिंग से जुड़ा हुआ हूं। रिया चक्रवर्ती के मामले में भी धारा 27ए हटाई गई थी। इसलिए मुझे रिमांड पर भेजने के बजाए जमानत दी जाए। रिकवरी की भी अब कोई जरूरत नहीं है और न ही इसके लिए हिरासत में रखे जाने की कोई वजह बनती है। गिरफ्तारी के बाद आर्यन ने अपने पिता शाहरुख खान से बात की थी। सूत्रों ने बताया कि कानूनी प्रक्रिया के तहत ब्यूरो के लैंडलाइन फोन से आर्यन की उनके पिता से दो मिनट बात कराई गई।