बदरुद्दीन अजमल ने कांग्रेस से गठबंधन के अंत की बात स्वीकारी

असम, गुवाहाटी:  एआईयूडीएफ ने औपचारिक रूप से कांग्रेस के साथ अपना गठबंधन तोड़ लिया है। पार्टी सुप्रीमो एवं धुबरी के सांसद बदरुद्दीन अजमल ने गठबंधन के अंत की बात स्वीकार की। गौरतलब है कि असम विधानसभा चुनाव से पहले दोनों पार्टियां अपने साझा दुश्मन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से लड़ने के लिए एक साथ आई थीं।

उन्होंने कहा कि यह अब समाप्त हो गया है। हमने स्वीकार किया है कि यह (गठबंधन) अब नहीं है। बड़े भाई जो भी फैसला लेते हैं, हम मान जाते हैं, कोई बात नहीं। जैसा कि उन्होंने निर्णय लिया है, हमने इसे स्वीकार कर लिया है। यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने एआईयूडीएफ के साथ विश्वासघात किया है तो उनका जवाब था कि आप कैसे कह सकते हैं कि उन्होंने विश्वासघात किया है। यह एक राजनीतिक गठबंधन था और फिर उन्होंने इसे तोड़ा।

उन्हें इसके बारे में खुश होना चाहिए और हम भी हैं। उनका यह भी कहना था कि इस गठबंधन के टूटने से दोनों राजनीतिक दलों को अपने अपने स्तर पर फायदा होगा। अजमल ने यह भी कहा कि विधायक अखिल गोगोई को एक निराश व्यक्ति हैं। उन्होंने सोचा था कि उनकी पार्टी राज्य के चुनावों में लगभग 15 सीटें जीतेगी, लेकिन केवल एक ही जीत पाई।

इसलिए, वह सिर्फ एआईयूडीएफ को निशाना बनाकर मीडिया का ध्यान खींचने की कोशिश कर रहे हैं। अजमल ने यह भी बताया कि पार्टी उपचुनाव में जाने वाली छह सीटों में से अधिकतम दो सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। हालांकि, उन्होंने उन सीटों के नामों का खुलासा नहीं किया।