पूर्वोत्तर के भाजपा सांसद ने किया प्रधानमंत्री से मुलाकात

नई दिल्ली:   पूर्वोत्तर से भाजपा सांसदों ने आज असम मिजोरम सीमा विवाद को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की। इस दौरान केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने आरोप लगाया कि देश से बाहर के अनेक तत्व उकसावे वाले बयान दे कर हिंसा भड़का रहे हैं। हमने प्रधानमंत्री को एक ज्ञापन भी सौंपा है।

ज्ञापन में कहा गया है कि कांग्रेस जैसे दल असम-मिजोरम सीमा मुद्दे का राजनीतिकरण कर रहे हैं और उकसावे वाले बयान दे रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि मिजोरम और असम में सीमा विवाद को लेकर कुछ दुखद घटनाएं हुई हैं, जो परिस्थिति पैदा हुई है उसे लेकर हमने प्रधानमंत्री को अवगत भी कराया।

हमने ज्ञापन में कहा है कि सीमा विवाद पुराने हैं और उसे सुलझाने के लिए असम और मिजोरम सरकार प्रयास कर रही है लेकिन इस बीच कांग्रेस और कुछ राजनीतिक पार्टियां हिंसा पैदा करने के लिए भड़काऊ बयान दे रही हैं। विदेशों से भी सोशल मीडिया में उनका हस्तक्षेप सामने आया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका पूर्वोत्तर से काफी प्रेम है और वे इसे राजनीति के चश्मे से नहीं देखते हैं। प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं सांसद दिलीप सैकिया ने कहा कि हम असम-मिजोरम सीमा पर हिंसा को लेकर भावनात्मक माहौल बनाने के कांग्रेस के प्रयासों की निंदा करते हैं।

पूर्वोत्तर में अपने 50 साल के शासन में वे इस मुद्दे का समाधान नहीं खोज सके लेकिन अब वे हम पर आरोप लगा रहे हैं। गौरतलब है कि पूर्वोत्तर के दोनों राज्यों के बीच जारी सीमा विवाद के कारण 26 जुलाई को हुए संघर्ष में असम पुलिस के कम से कम छह कर्मियों और एक आम नागरिक की मौत हो गई थी और 50 से अधिक लोग घायल हो गए थे।