कर्फ्यू की अवधि में 1 घंटे की और ढील दी है

असम गुवाहाटी:   असम सरकार ने आज मानव संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी कर पाबंदियों में और रियालते दी है। नई एसओपी के तहत कल से अंतर जिला परिवहन सेवा को दोबारा बहाल कर दिया गया है। हालाकि सार्वजनिक यातायात सेवा पर अब भी पाबंदी लागू रहेगी। निजी वाहनों से लोग अंतर जिला की यात्रा कर सकेंगे।

वहीं कामरुम महानगर जिले को इससे छूट नहीं दी गई है। पत्रकारों को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री केशव महंत ने कहा कि कामरुप महानगर जिले में अब भी कोरोना के मामले अधिक पाए जा रहे है, जिसकों ध्यान में रखते हुए अतंर जिला यातायात सेवा से जिले को छूट नहीं दी गई है। वहीं कल से धार्मिक स्थलों को भी खोलने की अनुमति दी गई है। सरकार ने प्रतिघंटा केवल 20 लोगों को ही मंदिरों, नाम घरो सहित प्रसिद्ध (आईकोनिक) धार्मिक स्थलों में प्रवेश की अनुमति दी है।

वहीं अन्य धार्मिक स्थलों पर प्रतिघंटा 10 लोगों को ही प्रवेश की अनुमति रहेगी। वहीं भादो माह को देखते हुए राज्य सरकार ने नामघरों में 50 प्रतिशत लोगों के प्रवेश की अनुमति दी है। इसके अलावा राज्य सरकार ने कर्फ्यू की अवधि में 1 घंटे की और ढील दी है। कल से दुकाने, प्रतिष्ठान शाम 6 बजे तक खुले रहेंगे। हालाकि होटल-रेस्तरां आदि में 50 प्रतिशत ग्राहकों के बैठने की अनुमति दी गई है।

वहीं शाम 7 बजे से अगली सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू लागू रहेगा। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना टीका का एक खुराक लेने वाले सरकारी कर्मचारियों को भी कार्यालय आना होगा, लेकिन गर्भवति महिलाएं और 3 साल से कम उम्र वाले बच्चों की मांओं को घर से काम करने की सुविधा दी जाएगी। इसके अलावा सभागारों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ आयोजन की अनुमति दी गई है। खुले मैदान में आयोजित कार्यक्रम में अधिकतम 200 लोग हिस्सा ले सकेंगे। साथ ही शादी व अन्य मांगलिक कार्यों में 25 लोगों के शामिल होने की अनुमति दी गई है। नई एसओपी कल से अगले आदेश आने तक लागू रहेगी।