चुनाव में ममता बनर्जी ने मारी बाजी

पश्चिम बंगाल, कोलकाता : पश्चिम बंगाल की भवानीपुर विधानसभा सीट से तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख एवं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उपचुनाव जीत गई हैं। उन्होंने भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल को 58,832 वोटों से हरा दिया है। 21 राउंड की गिनती के बाद ममता को 84,709 वोट मिले। टीएमसी ने उपचुनाव वाली 2 और सीटों पर भी कब्जा जमा लिया है। इस जीत के बाद तृणमूल कार्यकर्ता जमकर जश्न मना रहे हैं।

इस मौके पर ममता ने कहा कि मैंने भवानीपुर विधानसभा उपचुनाव 58,832 वोटों के अंतर से जीता है और निर्वाचन क्षेत्र के हर वार्ड में जीत दर्ज की है। उन्होंने कहा कि जब बंगाल का चुनाव शुरू हुआ था, तब से हमारी पार्टी के खिलाफ बहुत षड्यंत्र हुआ था। केंद्र सरकार ने षड्यंत्र करके हम लोगों को हटाने का बंदोबस्त किया था, लेकिन मैं जनता की आभारी हूं कि जनता ने हमें जिताया। उन्होंने कहा कि कोई भी कार्यकर्ता जीत का जश्न नहीं मनाएगा।

वो बाढ़ पीड़ितों की मदद करें। उन्होंने कहा क्या-क्या षड्यंत्र नहीं हुआ था। मुझे पैर में भी चोट कर दिया गया था, ताकि हम चुनाव न लड़ पाएं। उसके बाद उपचुनाव आया। मैं चुनाव आयोग की आभारी हूं कि उन्होंने समय पर चुनाव की घोषणा की। गौरतलब है कि चुनाव नतीजों के बाद प्रियंका टिबरेवाल ने कहा कि भले वे यह चुनाव जीतीं हैं, लेकिन इस खेल की मैन ऑफ द मैच मैं हूं, क्योंकि ममता बनर्जी के गढ़ में जाकर चुनाव लड़ा और 25,000 से ज्यादा वोट मिले हैं।

उनके उपाध्यक्ष कैमरे पर फर्जी वोटरों को बूथ में घुसाते हुए दिखाई दिए थे। उधर चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल सरकार को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि उपचुनावों की मतगणना के दौरान या उसके बाद जीत का जश्न न मनाया जाए और न ही कोई जुलूस निकाले। कोरोना महामारी को देखते हुए आयोग ने ममता सरकार को पत्र लिखकर यह निर्देश दिया है। साथ ही आयोग ने इस पर भी नजर रखने को कहा है कि चुनाव के बाद हिंसा न हो।