मिजोरम एफआईआर से लेगी असम के मुख्यमंत्री के नाम वापस

मिजोरम/असम:  असम के मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत विश्व शर्मा के खिलाफ दायर मामला वापस लेगी मिजोरम सरकार। यह खुलासा आज पड़ोसी राज्य के मुख्य सचिव ने किया। उन्होंने कहा कि मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा ने 26 जुलाई की घटना के बाद दायर एफआईआर में हिमंत विश्व शर्मा के नाम को शामिल करने की अनुशंसा नहीं की है।

मुख्य सचिव ने कहा अगर कोई कानूनी बाधा नहीं आई तो वे थाने में दायर प्राथमिकी से हिमंत का नाम वापस ले लेंगे। उधर मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा आज अपने निवास स्थान पर पत्रकारों से कहा कि उन्हें खुशी है कि उनके नाम से मिजोरम के थाने में एफआईआर दर्ज की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वे जांच में सहयोग करेंगे और जरूरत पड़ी तो इसके लिए मिजोरम तक जाने को तैयार है। गौरतलब है कि मिजोरम की पुलिस ने असम के मुख्यमंत्री समेत राज्‍य के छह वरिष्‍ठ अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। इनके खिलाफ हत्‍या का प्रयास और आपराधिक साजिश समेत दूसरी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

यह प्राथमिकी कोलासिब के वेरेंगटे थाने के इंस्‍पेक्‍टर एच ललछाविमाविया ने दर्ज कराई थी। प्राथमिकी में असम के मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत विश्व शर्मा, आईजी अनुराग अग्रवाल, डीआईजी दिवोज्‍योति मुखर्जी, कछार के जिला उपायुक्त कीर्ति जल्‍ली, कछार के पूर्व एसपी वैभव चंद्रकांत निंबालकर, वन अधिकारी सन्‍नीदेव चौधरी, ढोलाई थाने के प्रभारी सहाबुद्दीन और असम पुलिस के 200 अज्ञात पुलिसकर्मियों का नाम शामिल किया गया था।