11 प्रतिशत लोगों ने ही ली है कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज, यात्रियों के लिए अनिवार्य जांच खत्म

असम, गुवाहाटी:   असम में अभी तक सिर्फ 11 प्रतिशत लोगों ने कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लिए हैं। यह जानकारी आज स्वास्थ्य मंत्री केशव महंत ने दी। उल्लेखनीय है कि राज्य की तकरीबन साढ़े तीन करोड़ की आबादी में से 2.37 करोड़ लोग 18 वर्ष से अधिक उम्र के हैं।

इनमें से 1.18 करोड़ लोगों ने वैक्सीन की पहली डोज ली है, जबकि 25. 21 लाख लोग दोनों डोज ले चुके हैं। इस प्रकार एलिजिबल आबादी के 51 प्रतिशत लोग पहली डोज, जबकि 11 प्रतिशत दोनों डोज चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि राज्य में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है।

उन्होंने वैक्सीन लेने के पात्र लोगों से आगे आकर जल्द से जल्द वैक्सीन लेने की अपील की है। वहीं दूसरी ओर कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके लोगों को अब असम के हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन और सीमा प्रवेश क्षेत्र पर अनिवार्य जांच नहीं करानी पड़ेगी। ऐसे लोगों को सक्षम अधिकारियों को अपना वैक्सीन लेने का सर्टिफिकेट दिखाना होगा। उन्हें 72 घंटे पुरानी रिपोर्ट भी दिखानी होगी।

आज जारी नए आदेश में बताया गया कि वे लोग जिनमें संक्रमण के जरा भी दिखाई देंगे, उन्हें अपने खर्च पर उल्लेखित स्थानों पर आरटी पीसीआर जांच करानी होगी। गौरतलब है कि राज्य में कोरोना की स्थिति में सुधार को देखते हुए यह कदम उठाया गया है।