वाणिज्यिक उड़ान पर रहेगा 30 सितंबर तक प्रतिबंध 

नई दिल्ली:  केंद्र सरकार ने अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ान पर लगी रोक को बढ़ाने का फैसला किया है। यह रोक अब 30 सितंबर तक बढ़ा दी गई है। यह जानकारी डीजीसीए ने दी है। गौरतलब है कि यह कदम कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए उठाया गया है। हाल ही में कुछ दिनों में नए मामले तेजी से बढ़ने लगे हैं।

इससे पूर्व या प्रतिबंध 31 अगस्त तक था। अब कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब इसे एक महीने के लिए बढ़ाकर 30 सितंबर कर दिया गया है। हालांकि यह नियम इंटरनेशनल कार्गो फ्लाइट पर लागू नहीं होगा। डोमेस्टिक फ्लाइट सर्विस को एविएशन डिपार्टमेंट ने यात्रा में लगने वाले समय के आधार पर सात अलग-अलग बैंड में बांटा है, हर बैंड के लिए प्राइस कैप तय किया गया है, इसी महीने सरकार ने हर बैंड के लिए मिनिमम और मैक्सिमम किराए को बढ़ाने का ऐलान किया था।

हालांकि वंदे भारत मिशन के तहत पिछले वर्ष मई से जुलाई के बीच चुनिंदा देशों के साथ द्विपक्षीय एयर बबल व्यवस्था के तहत विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानें संचालित हो रही हैं। यह उल्लेख करना प्रासंगिक होगा कि भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन, संयुक्त अरब अमीरात, केन्या, भूटान और फ्रांस सहित लगभग कुछ देशों के साथ एयर बबल समझौते किए हैं गौर हो कि पिछले वर्ष मार्च में सरकार ने पहली बार पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया था, उसी दौरान ट्रेन, प्लेन समेत तमाम सर्विस करीब दो महीने तक बंद रही मई से फ्लाइट सेवा को दोबारा बहाल किया गया था।