पेरिस में मिलने के वादे के साथ टोक्यो ओलंपिक को कहा अलविदा

नई दिल्ली:  जापान की राजधानी टोक्यो में आयोजित खेलों का महाकुंभ दो दिवसीय ओलंपिक का कल देर रात समापन हो गया। इस बार ओलंपिक में 205 देशों के हजारों खिलाड़ियों ने हिस्सा लेकर पदक जीतने की कोशिश की।

भारत का टोक्यो ओलंपिक में 7 मेडल के साथ ऐतिहासिक प्रदर्शन रहा। भारत के खाते में एक गोल्ड, 2 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज मेडल आए. अब अगले ओलंपिक का आयोजन 2024 में फ्रांस की राजधानी पेरिस में किया जाएगा।

भारत ने टोक्यो ओलंपिक में वेटलिफ्टर मीराबाई चानू के सिल्वर मेडल के साथ शानदार शुरुआत की थी. इसके बाद भारत को कई कांस्य पदक और एक सिल्वर मेडल मिला। देश के ओलंपिक अभियान का अंत भाला फेंक के एथलीट नीरज चोपड़ा के गोल्ड मेडल के साथ हुआ।

इस बार भारत को ट्रैक एवं फील्ड स्पर्धा में भारत को पहला पदक मिला, जो 13 साल बाद पहला गोल्ड मेडल भी था। इसके अलावा हॉकी में 41 वर्षों से चला आ रहा मेडल का इंतजार भी खत्म हुआ। भारत को इस ओलंपिक में सबसे ज्यादा 7 पदक भी मिले।भारत को गोल्ड मेडल भाला फेंक के एथलीट नीरज चोपड़ा ने दिलाया। वेटलिफ्टर मीराबाई चानू और पहलवान रवि दहिया ने देश के खाते में सिल्वर मेडल जोड़े।

  • उनके अलावा बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु, मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन और पहलवान बजरंग पूनिया ने अपने-अपने खेलों में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर भारत के पदकों की संख्या बढ़ा दी। खास बात यह रही कि भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रच दिया। कुल 7 मेडल के साथ भारत पदक तालिक में 48वें स्थान पर रहा। अगला ओलंपिक 2024 में फ्रांस की राजधानी पेरिस में होगा। पेरिस में 26 जुलाई से 11 अगस्त 2024 तक इस खेल का आयोजन प्रस्तावित है।