No Content Available

आरोपी की मौत के बाद फैल गया तनाlडॉ. दिव्यज्योति सैकिया ने इसे बताया मानव अधिकार उल्लंघन की घटना* असम, लखीमपुर : असम के लखीमपुर में मोबाइल की चोरी में पकड़े गए एक आरोपी की पुलिस हिरासत में मौत हो गई। आरोपी की मौत के बाद लखीमपुर में तनाव का माहौल फैल गया। खेलमाटी क्षेत्र में स्थानीय लोग सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करने लगे। इस घटना के संबंध में दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। मोबाइल फोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की चोरी में बुधवार को चार लोगों को गिरफ्तार किया गया था। लखीमपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) एलके डेका ने बताया कि आरोपी पुलिस स्टेशन के अंदर कुर्सी पर बैठा था और अचानक से नीचे गिर गया। उसे तुरंत सिविल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। एएसपी ने कहा कि घटना के दौरान दीपांकर चांगमई थाना के प्रभारी थे, उनके साथ अन्य पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया। उन्होंने आगे कहा घटना पुलिस स्टेशन के अंदर घटी, इसलिए एएसपी रैंक के अधिकारी इस मामले की जांच करेंगे।इस घटना के विरोध में सुबह से ही पुलिस स्टेशन के सामने भारी भीड़ जमा हो गयी थी। इलाके में तनाव का माहौल है। स्थिति को शांत करने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। एएसपी ने बताया कि इस मामले के लिए मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं। मौत के सही कारणों का पता लगाने के लिए डॉक्टरों का एक पैनल पोस्टमॉर्टम करेगा। इसकी वीडियोग्राफी भी की जाएगी। इस घटना के संदर्भ में असम के पुलिस महानिदेशक जीपी सिंह ने सोशल मीडिया प्लेटफर्म एक्स पर पोस्ट कर जानकारी दी। वहीं दूसरी ओर असम के राष्ट्रीय स्तर के मानवाधिकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. दिव्यज्योति सैकिया ने इस घटना पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उनका कहना था कि यह सरासर मानव अधिकार उल्लंघन की घटना है। यह न्याय व्यवस्था पर भी करार चोट है। उन्होंने असम राज्य मानव अधिकार आयोग से संज्ञान लेने की अपील की है।